Blogging Kya Hai? जानें 2021 में ब्लॉग्गिंग कैसे सीखें?

Blogging Kya Hai? और 2021 में Blogging कैसे सीखें? ब्लॉग्गिंग के बारे में अगर आप विस्तार से जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल के साथ अंत तक बने रहिये ताकि आप कोई भी जानकारी मिस न करें | तो चलिए सोने चांदी से भी ज्यादा महत्वपूर्ण इस आर्टिकल की शुरुआत करते हैं:

Blog और Blogging Kya Hai? ये जानने से पहले मै आप सभी को ये बता देना चाहता हूँ की इंटरनेट के इस युग में आज किसी चीज़ के बारे जानकारी प्राप्त करना कोई बड़ी बात नहीं है | रोज़ाना लाखों और करोड़ों की तादाद में लोग गूगल जैसे सर्च इंजन (Search Engine) पर अपनी समस्याओं से सम्बंधित उसका समाधान ढूंढ़ते हैं |

सवाल यहाँ पर ये आता है कि आखिर इंटरनेट पर ये जानकारी कहाँ से आती है? तो इसका जवाब है हम जैसे लोग जो दिन रात ब्लॉग्गिंग के जरिये हमें ये जानकारी उपलब्ध करवाते है।

होता ये है दोस्तों, जब भी आप गूगल पर अपने किसी प्रश्न का उतर चाहते है तो जिस किसी ने भी उस प्रश्न से सम्बंधित जानकारी अपनी वेबसाइट पर दी होगी तो गूगल उन सभी परिणामों को आपको दिखा देगा | ये सारी जानकारी ब्लॉग्गिंग का ही कमाल है |

चलिए मै आपको ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित थोड़ा और विस्तार से जानकारी देता हूँ | तो आईये ब्लॉग्गिंग की इस यात्रा को शुरू करते है:


Blog और Blogging Kya Hai? ध्यानपूर्वक समझ लें


यहाँ पर ये कहना बिलकुल भी गलत नहीं होगा कि Blog और Blogging एक ही सिक्के के दो पहलु है | पहले समझ लेते है कि एक ब्लॉग (Blog) क्या है?
Blogging Kya Hai?

Blog Kya Hai? ब्लॉग क्या है?


Blog Kya Hai: अगर मैं आसान भाषा में कहूं तो एक ब्लॉग हम उसे कहते हैं जहाँ पर लोगों के काम की जानकारी आर्टिकल्स के रूप में डाली जाती हैं | ब्लॉग एक तरह की वेबसाइट ही होती है जहाँ पर आपको बहुत सारे आर्टिकल्स पढ़ने को मिल जाते हैं |

ब्लॉग को एक आम बातचीत के रूप में ही लिखा जाता है जैसे की अभी मै आप सभी से इस लेख के ज़रिये बात कर रहा हूँ |

उदहारण (Example): 1जिस तरह से इस वक़्त आप मेरा ये लिखा हुआ आर्टिकल पढ़ रहे हैं जो कि मैंने अपनी वेबसाइट पर लिखा है तो इसे आप एक ब्लॉग ही कह सकते हैं | क्यूंकि मै यहाँ पर जानकारी आर्टिकल्स के रूप में डालता हूँ |

2) जब आप किसी चीज़ के बारे में अपना सुझाव एक आर्टिकल के रूप में अपनी वेबसाइट पर शेयर करते हैं उसे भी हम ब्लॉग कहते हैं।

अब मान लीजिये आपने ऑनलाइन शॉपिंग करके कोई चीज़ खरीदी और वह चीज़ आपको जैसी भी लगी आपने उसके बारे में अपना सुझाव अपनी वेबसाइट पर लिखकर डाल दिया |


Blogging Kya Hai? ब्लॉग्गिंग क्या है? और क्यों ज़रूरी है? पूरी जानकारी


दोस्तों हमने ये तो जान लिया कि एक ब्लॉग क्या होता है?, तो आइये अब इस आर्टिकल की सबसे महत्वपूर्ण जानकारी कि Blogging Kya Hai? और आज के इस प्रतिस्पर्धा वाले युग में ब्लॉग्गिंग करना क्यों ज़रूरी होता है?

ब्लॉग्गिंग की परिभाषा (Definition) : 
किसी भी वेबसाइट पर आर्टिकल्स या ब्लॉग पोस्ट डालने की प्रक्रिया को ब्लॉग्गिंग (Blogging) कहा जाता है


Blogging करना क्यों ज़रूरी है? और इसका क्या महत्व है? 


यहाँ पर मै आप सभी को बता देना चाहता हूँ कि अगर आपका कोई बिज़नेस है जिसे आप पुरे विश्व या किसी ख़ास जगह पर प्रमोट या उसको वहां फैलाना चाहते हैं तो ब्लॉग्गिंग आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है |

Blogging का महत्व:


मेरे प्यारे मित्रों, यहाँ पर मै कुछ पॉइंट्स आप सभी के साथ शेयर करूँगा जिससे आप सभी को ये समझने में आसानी रहेगी कि ब्लॉग्गिंग का आज के समय मै इतना महत्व क्यों हैं?

1. ज्यादा ग्राहक जुड़ेंगे (More Customers): 


जब आप अपनी वेबसाइट पर अपनी सेवाओं या उत्पाद से सम्बंधित ब्लॉग्गिं करते हैं तो जो भी आपका प्रोडक्ट या उत्पाद होता है उसे लोगों द्वारा महीने में एक सीमित तादाद में गूगल पर सर्च किया जाता है।

उदाहरण के लिए मान लीजिये मेरा हेयर सैलून का काम है और एक साधारण इंसान गूगल पर यही लिख कर सर्च करता है, जैसे कि: "Best Hair Salon in Delhi"

आप जिस भी शहर में रहते हैं दिल्ली की जगह अपना शहर लिख सकते हैं । अब फ़र्ज़ कीजिये ऊपर जो कीवर्ड (Best Hair Salon in Delhi) मैंने सर्च किया है उसे महीने में दस हज़ार लोग गूगल पर आकर सर्च करते हैं |

सोचिये अगर आपने इस कीवर्ड से सम्बंधित अपने ब्लॉग पर आर्टिकल डाला हो और आपका वह आर्टिकल गूगल में पहले पृष्ठ पर रैंक कर जाए तो आपके बिज़नेस को कितना फायदा होगा |

ऊपर बताई गयी इन बातों से आप अंदाज़ा लगा सकते हैं कि ब्लॉग्गिंग करने से आपको कितना फायदा हो सकता है |

2. ब्रांड वैल्यू (Brand Value): 


कोशिश कीजिये जब भी आप अपने बिज़नेस के लिए ब्लॉग्गिंग (Blogging) करें और आपको कस्टमर्स भी काफी ज्यादा तादाद में आ रहे हो तो अपनी सेवा को जितना बेहतर हो सके उतना बेहतर बनाने की करें |

जिससे कि आपके बिज़नेस की ब्रांड वैल्यू और प्रतिष्ठा और बढे ताकि कस्टमर्स आपके पास आते रहें | ब्लॉग्गिंग करने से कस्टमर्स खुद ब खुद चलकर आपके पास आएंगे |
 

3. लक्षित ग्राहक (Targeted Customers): 


अक्सर ऐसा होता है कि जिस किसी को भी हम अपनी सेवा या उत्पाद बेच रहें हैं वह हमारी सेवा लेने में दिलचस्प है भी या नहीं |

ज़ाहिर है अगर आप ब्लॉग्गिंग करते हैं तो आपको इस विषय में भी ज्ञान होगा कि आपकी सेवा में दिलचस्प ग्राहकों को कैसे लाया जाए? कीवर्ड रिसर्च (Keyword Research) नामक एक प्रक्रिया होती है | जिससे हम यह चीज़ पता लगा सकते हैं की आखिर किस जगह के ग्राहक गूगल में क्या सर्च करते हैं |

Blogging कितने तरह की होती है? जान लें  


देखिये दोस्तों, हमने यहाँ पर यह तो जान लिया कि Blogging Kya Hai? लेकिन एक प्रश्न यहाँ पर ये भी उठता है कि ब्लॉग्गिंग कितने प्रकार की होती है? तो आइए समझ लेते हैं की कौन-कौन सी ब्लॉग्गिंग हम कर सकते हैं? हर किसी ब्लॉगर का सुझाव ब्लॉग्गिंग के बारे में थोड़ा अलग ज़रूर होता है। 

वैसे तो ब्लॉग बहुत तरह के होते हैं जैसे कि पर्सनल ब्लॉग, ग्रुप ब्लॉग, कॉर्पोरेट ब्लॉग इत्यादि लेकिन 2021 में ब्लॉग्गिंग के जो महत्वपूर्ण प्रकार हैं उसके बारे में हम यहाँ पर जान लेते हैं |

  1. माइक्रो निछ ब्लॉग्गिंग (Micro Niche Blogging)
  2. इवेंट ब्लॉग्गिंग (Event Blogging)


1. Micro Niche Blogging Kya Hai? माइक्रो निछ ब्लॉग्गिंग क्या है? 


एक साधारण तरीके से मै आप सभी को समझाता हूँ कि Micro Niche Blogging Kya Hai? 

माइक्रो निछ ब्लॉग तीन शब्दों के मेल से बना है: Micro+Niche+Blog | यहाँ पर माइक्रो (Micro) का मतलब है सबसे छोटा, निछ (Niche) का मतलब है जिस भी विषय पर आप ब्लॉग बनाते हैं और ब्लॉग्गिंग (Blogging) का मतलब हमने पहले ही जान लिया है |

परिभाषा: माइक्रो निछ ब्लॉग (Micro Niche Blog) सीमित विषय पर एक ब्लॉग या वेबसाइट होती है जिस पर एक निश्चित गिनती में ब्लॉग पोस्ट्स या आर्टिकलस होते हैं जो हमें सिर्फ एक विषय पर ही जानकारी देते हैं |

उदाहरण के लिए अगर आपका स्मार्टफोन्स में इंटरेस्ट है तो आप अपने ब्लॉग पर स्मार्टफोन्स से सम्बंधित ही जानकारी दे सकते हैं |
  

2. Event Blogging Kya Hai? इवेंट ब्लॉग्गिंग क्या है? 


ब्लॉग्गिंग में दूसरी सबसे महत्वपूर्ण जो चीज़ है वोह है इवेंट ब्लॉग्गिंग (Event Blogging). जैसा कि इवेंट ब्लॉग्गिंग (Event Blogging) के नाम से ही समझ आता है: Event+Blogging

तो यहाँ समझ लेते हैं कि Event Blogging Kya Hai? इवेंट (Event) का मतलब होता है समारोह और ब्लॉग्गिंग (Blog) का मतलब उस विषय पर आर्टिकल्स लिखना |

उदाहरण के लिए मान लीजिये आज से ठीक तीन से चार महीने बाद दिवाली का त्यौहार आने वाला है | जो Bloggers होते हैं वो क्या करते हैं कि दिवाली पर एक डोमेन (जैसे कि www.happydiwali2022.com) ले लेते हैं और 3-4 महीने लगातार इस पर काम करते हैं |

तीन से चार महीने की कड़ी मेहनत के बाद वह वेबसाइट गूगल में रैंक हो जाती है और इससे Bloggers को काफी लाभ मिलता है | 

जानिए साल 2021 में Blogging Kaise Kare और सीखें?


दोस्तों, इंटरनेट और टेक्नोलॉजी ऐसी चीज़ है जहाँ पर लगातार हर समय कोई न कोई बदलाव हमेशा आता रहता है | इस बात पर आने से पहले कि Blogging Kaise Kare , यहाँ पर ये जानना ज़रूरी है कि आखिर ब्लॉग्गिंग कैसे सीखी जाए?    


मै आप सभी को बता देना चाहता हूँ कि अगर तो आप बिलकुल शुरुआत से ब्लॉग्गिंग को जानना चाहते हैं तो यहाँ पर सबसे पहले ब्लॉग्गिंग की बेसिक चीज़ें सीखनी होगी।

जैसे कि डोमेन क्या होता है?, वेब होस्टिंग क्या होती है? एक CMS (कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम) क्या होता है? वेब डिजाइनिंग और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन क्या होता है? और भी इसी तरह के प्रश्न जिन्हे आप सभी का जानना बहुत ज़रूरी है |

इन सभी चीज़ों को सीखना भी अपने आप में सबसे बड़ा चैलेंज है | तो ये सब कैसे होगा? इस प्रश्न का उतर मै आप सभी को बताता हूँ तो चलिए ब्लॉग्गिंग सीखने के लिए आपको क्या-२ करना पड़ेगा? जान लेते हैं | 


कम समय में Blogging Kaise Kare और सीखें? 


दोस्तों, मै यहाँ पर कुछ महत्वपूर्ण टिप्स शेयर कर रहा हूँ जिसे अगर आप फॉलो करते हैं तो मात्र तीन से चार महीनो में आप एक प्रोफेशनल ब्लॉगर बन सकते हैं:

1. मेरे प्रिय मित्रों, ब्लॉग्गिंग किसी भी उम्र का व्यक्ति कर सकता है बस शर्त ये है कि उस व्यक्ति को पढ़ने और चीज़ों को समझने में गहन रुचि होनी चाहिए |

2. ब्लॉग्गिंग में सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) ज़रूर सीखना चाहिए जिसकी ब्लॉग्गिंग में बहुत अहम् भूमिका होती है | 

3. अंग्रेजी भाषा पर अगर आपकी पकड़ अच्छी है तो आप बहुत कम टाइम में ब्लॉग्गिंग सीख जाएंगे क्यूंकि इंटरनेट पर ज्यादातर जानकारी अंग्रेजी भाषा में उपलब्ध है |
 
4. इंटरनेट पर जितना ज़्यादा हो सके उतने ज़्यादा ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित आर्टिकल्स पढ़ें |

5. शुरुआत में फ्री ब्लॉग या वेबसाइट बना कर काम चलाएं |

6. अगर आपके पास समय कम हैं तो ब्लॉग्गिंग सीखने में कम से कम दो घंटे का वक़्त ज़रूर दें |

7. यूट्यूब पर ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित आप सभी को बेहिसाब वीडियोस मिल जाएंगी उन्हें ज़रूर देखें | 

उपर बताये गए इन पॉइंट्स को अगर आप फॉलो करते हैं तो मै आपको पुरे विश्वास के साथ कहता हूँ आप मात्र तीन से चार महीनो में ही ब्लॉग्गिंग अच्छी तरह से सीख जायेंगे | ज़रुरत है तो बस आपकी लगन की और कड़ी मेहनत की | 


आखिरी शब्द


मेरे प्यारे पाठकों मुझे उम्मीद है कि आपको ये आर्टिकल Blogging Kya Hai? ज़रूर पसंद आया होगा | बस मै यहाँ पर यही कहना चाहूंगा कि कोई भी काम आपको आसान लगेगा अगर आप उसे पुरे दृढ़ संकल्प के साथ करेंगे। 
बस हार मत मानिये और इस काम की जानकारी को ज़रूर शेयर कीजिये ताकि जो भी हमारे और भी भाई बंधू है तो इसे सीख पाएं | इस आर्टिकल को पढ़ने और अपना कीमती समय देने के लिए मै आप सभी का तेह दिल से शुक्रगुज़ार हूँ |