IELTS Kya Hai? जानिए आइलेट्स क्या है? कैसे करें?

IELTS Kya Hai: दोस्तों, मैं गौरव कुमार अपने इस ब्लॉग में आपका हार्दिक स्वागत करता हूँ। चलिए बिना समय नष्ट किये ये जान लेते हैं कि IELTS Kya Hai? 

दोस्तों, अगर आप उच्च शिक्षा के लिए या नौकरी करने के लिए विदेश जाना चाहते हैं तो आप सभी के लिए ये जानना बहुत ही ज्यादा आवश्यक है कि IELTS Kya Hai? और IELTS करने के फायदे क्या हैं? एक शोध में ये पाया गया है कि भारत में हर साल लगभग बीस लाख से भी ज्यादा छात्र IELTS के एग्जाम के लिए आवेदन कराते हैं |

भारत से विदेश जाकर पढ़ने वालों की तादाद हर साल बढ़ रही है जो कि बहुत बड़ी बात है | कुछ मुख्य देश जैसे कि कनाडा (Canada), ऑस्ट्रेलिआ (Australia), यूके (UK) आदि ऐसे शीर्ष देश हैं जहाँ पर ज्यादातर विद्दार्थी उच्च शिक्षा के लिए जाना पसंद करते हैं | आज भी बहुत कम लोग हैं जिन्हे ये नहीं पता कि आइलेट्स क्या है?

बहुत से लोगों के मन में IELTS से सम्बंधित काफी सवाल रहते हैं जैसे कि IELTS  कैसे करें? IELTS की फीस? IELTS के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए? मैं यहाँ पर कोशिश करूंगा की आपके IELTS से सम्बंधित सभी सवालों के जवाब दे पाऊं। तो चलिए आर्टिकल शुरू करते हैं |

IELTS Kya Hai? आइलेट्स क्या है? पूरी जानकारी


दोस्तों हम यहाँ विस्तार से जानेंगे कि आइलेट्स क्या है (IELTS Kya Hai?) सबसे पहले यहाँ हम IELTS को परिभाषित करेंगे |

परिभाषा (Definition) : IELTS की फुल फॉर्म है: इंटरनेशनल इंग्लिश लैंग्वेज टेस्टिंग सिस्टम (International English Language Testing System) | 

IELTS एक अंतर्राष्ट्रीय परीक्षा है जो कि इस चीज़ को मापता है कि आप अंग्रेजी भाषा बोलने में कितने प्रवीण हैं ताकि आप उस देश में पढाई या नौकरी कर सकें जहाँ पर अंग्रेजी भाषा बात करने और बाकी अन्य जरुरी कामों के लिए इस्तेमाल की जाती है


उदाहरण (Example): 1) मान लीजिये अगर आप शिक्षा प्राप्त करने के लिए अमेरिका जाना चाहते हैं तो वो आप डायरेक्टली नहीं जा सकते उसके लिए कुछ शर्तें होती है जैसे कि आपको किसी भी देश में जाने के लिए पासपोर्ट (Passport) की जरुरत होती  है |

2) उसी तरह आइलेट्स भी एक प्रकार का एग्जाम है जो आपको तब देना होता है जब आप उच्च शिक्षा के लिए किसी ऐसे देश जाते हैं जहाँ पर अंग्रेजी भाषा बोली जाती है |  

नोट (Note): IELTS के एग्जाम का रिजल्ट मापने के लिए 1 से लेकर 9 तक का एक स्केल होता है जिसके आधार पर ये निर्धारित किया जाता है की आवेदक IELTS के  एग्जाम में उत्तरीन हुआ या नहीं। इन संख्याओं को हम बैंड्स (Bands) कहते हैं |


IELTS Exam Ke Prkaar | आइलेट्स एग्जाम के प्रकार


हम सभी ने ये तो जान लिया कि IELTS Kya Hai? आइये अब नज़र डालते हैं कि IELTS एग्जाम कितने प्रकार का होता है?
 
IELTS एग्जाम दो प्रकार का होता है: 1) अकादमिक (Academic) 2) जनरल ट्रेनिंग (General Training)


1) अकादमिक (Academic):


अकादमिक (Academic) टेस्ट वो लोग देते हैं जो उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाना चाहते हैं | इसमें स्टूडेंट वीजा के लिए आवेदन किया जाता है


2) जनरल ट्रेनिंग (General Training) :


जो लोग जॉब या किसी कोर्स की ट्रेनिंग के लिए विदेश जाना चाहते हैं, जनरल ट्रेनिंग (General Training) मॉड्यूल उनके लिए होता है |


आइलेट्स (IELTS) टैस्ट का फॉर्मेट क्या है? 


IELTS Kya Hai? ये जानने के बाद अब हम जानेंगे की आइलेट्स का क्या सिस्टम और फॉर्मेट है? ये कैसे काम करता है? और इसकी क्या प्रक्रिया है? 

आइलेट्स के एग्जाम को मुख्यतः चार श्रेणियों में बांटा गया है:

  • लिसनिंग (Listening) -  30 मिनट
  • रीडिंग (Reading) -        60 मिनट 
  • राइटिंग (Writing) -       60 मिनट
  • स्पीकिंग (Speaking)     11-14 मिनट
 
दोस्तों जैसा कि आप देख सकते हैं कि ऊपर मैंने आइलेट्स की चारों श्रेणियों की अवधि भी बताई है और एग्जाम का कुल समय मिलकर यह 2 घंटे 45 मिनट का होता है |

नोट (Note): आइलेट्स के एग्जाम में थोड़े बहुत बदलाव होते रहते है। मेरा आप सभी से अनुरोध है की ज्यादा जानकारी के लिए आप इनकी ऑफिशल वेबसाइट www.ielts.org पर विजिट कर सकते हैं |


1) लिसनिंग (Listening):


सबसे पहले यहाँ पर बात करते हैं लिसनिंग सेक्शन की जो की IELTS की परीक्षा का महत्वपूर्ण हिस्सा है | इस सेक्शन की अवधि 30 मिनट की होती है | जिसमें आपको एक ऑडियो रिकॉर्डिंग सुनाई जाती है। इसमें आपको 40 प्रश्न पूछे जाते हैं जो कि 1-1 नंबर के होते हैं |  

ये रिकॉर्डिंग अंग्रेजी भाषा और अमेरिकन बोलचाल (Accent) में होती है जिसे समझ पाना काफी जटिल होता है | आपको इस टेस्ट में हेडफोन्स लगाने के लिए दिए जाते हैं और प्रश्न पत्र दे दिया जाता है जो उस रिकॉर्डिंग से सम्बन्धित होता है जो आपको सुनाई जाती है |

लिसनिंग टिप्स (Listening Tips): 1) लिसनिंग के वक़्त अपना पूरा ध्यान लगा कर सुने |
2) रिकॉर्डिंग सुनने के साथ साथ महत्वपूर्ण कीवर्ड्स (Keywords) पेंसिल से ज़रूर नोट करें |

2) रीडिंग (Reading):


  • दोस्तों, IELTS सेक्शन में एक रीडिंग सेक्शन होता है जिसमें कुल मिलाकर 40 प्रश्न होते हैं जिसमें आपकी अंग्रेजी भाषा के पढ़ने और उसे समझने कि क्षमता को परखा जाता है |

  • इस सेक्शन में आपको अंग्रेजी भाषा से सम्बंधित पैराग्राफ के रूप में प्रश्न पूछे जाते हैं जो कि तमाम स्त्रोंतों जैसे किताबों, न्यूज़, जनरल नॉलेज आदि में से लिए जाते हैं | इस सेक्शन कि अवधि 60 मिनट की होती है


3) राइटिंग (Writing):


  • राइटिंग सेक्शन आइलेट्स का दूसरा सबसे महत्वपूर्ण भाग होता है जो कि आपकी अंग्रेजी भाषा लिखने की क्षमता को परखता है जिसकी अवधि भी 60 मिनट की होती है | इसमें कुल प्रश्न दो ही होते हैं |

  • प्रश्न नंबर एक में आपको कोई चित्र दिया जाता है जो की किसी प्रकार के डाटा को दर्शाता है जैसे की लाइन ग्राफ, पाई चार्ट, हिस्ट्रोग्राम आदि ( जैसे की गणित में होता है ) | इस डाटा चित्र की मदद से आपको इसे लगभग 150 शब्दों में अंग्रेजी भाषा में 20 मिनट में लिखकर बताना होता है |

  • दूसरे प्रश्न में आपको कोई समस्या या सुझाव दिया जाता है जिसे आपको अपने शब्दों में तक़रीबन 250 शब्दों में लिखना होता है जिसकी समय सीमा 40 मिनट की होती है | 


स्पीकिंग (Speaking)


  • टेस्ट के इस सेक्शन में आपके अंग्रेजी भाषा के बोलने की क्षमता परखी जाती है | 11-14 मिनट के इस टेस्ट मे आपको आपके बारे में कुछ प्रश्न पूछे जाते हैं जिसका जवाब आपको अंग्रेजी भाषा में देना होता है |
 
  • इस सेक्शन में आपको किसी कार्ड में आपको एक टॉपिक दिया जाता है जिसमें आपको एक मिनट दिया जाता है उस विषय पर सोचने के लिए और फिर उसी से सम्बंधित आपसे सवाल पूछे जाते हैं |


IELTS Ke Liye Qualification (आइलेट्स के लिए क्वालिफिकेशन क्या है?)


दोस्तों, भले ही कोई भी एग्जाम हो, हर एग्जाम के लिए कुछ शर्तें और योग्यता होती है |

  • आइलेट्स का एग्जाम देने के लिए कम से कम 16 वर्ष की आयु होनी चाहिए और एक वैध पासपोर्ट होना चाहिए |
  • आप इसके लिए तभी क्वालीफाई कर पाएंगे जब आप यूके (UK), कनाडा (Canada), आस्ट्रेलिया (Australia) और न्यूजीलैंड (New Zealand) जैसे देशों में पढाई के लिए जाए रहे हैं | 
  • जब आप कनाडा, ऑस्ट्रेलिआ और न्यूजीलैंड जैसे देशों में रहने के लिए जा रहे हों |


IELTS Ki Fees Kitni Hai? (आइलेट्स की फीस)


अगर बात करें IELTS Ki Fees की तो एक रिपोर्ट के अनुसार 1st अप्रैल, 2020 से IELTS के लिए जो फीस है वो रहेगी सिर्फ चौदह हज़ार रूपये (14000/-) 


IELTS Kitne Month Ki Hoti Hai? (आइलेट्स कितने मंथ की होती है)


IELTS Kitne Month Ki Hoti Hai ये सवाल काफी लोगों द्वारा पूछा जाता है | दोस्तों वैसे तो IELTS का जो कोर्स होता है वो कम से कम 2 से ढाई महीने का होता है | ये आपके सीखने पर निर्भर करता है कि आप इसे कितना जल्दी सीखते  हैं |

मैंने 2013 में आइलेट्स की थी | IELTS में ट्रेनिंग से लेकर एग्जाम क्लियर करने तक मुझे कम से कम ढाई महीने का समय लगा था |  


IELTS Ke Liye Apply Kaise Karein? आइलेट्स के लिए अप्लाई कैसे करें?

दोस्तों IELTS में जब आपकी ट्रेनिंग पूरी हो जाती है | तो आप आइलेट्स के लिए आवेदन कर सकते  हैं | आइलेट्स के लिए आवेदन करने के लिए आप इस लिंक पर विजिट कर सकते हैं और वहां अपनी सारी जानकारी फॉर्म में भरकर सबमिट कर सकते हैं |

आवेदन करने के लिए यहाँ क्लिक करें:  https://www.ielts.org/book-a-test/how-do-i-register     

आखरी शब्द (Final Words):

तो दोस्तों इस आर्टिकल में हमने जाना कि IELTS Kya Hai? उम्मीद है आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा | दोस्तों इस विषय से सम्बंधित अगर आपका कोई भी सवाल है तो आप कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं | अपना कीमती समय देने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद |